Ayurvedic Soup: ज्वाइंट पेन से लेकर थायरॉयड और बैड कोलेस्ट्रॉल तक से निपटने में कारगर है सहजन का सूप

[ad_1]

लाइफस्टाइल डेस्क, नई दिल्ली। Ayurvedic Soup: सहजन, जिसके फल से लेकर फूल और पत्तियों तक में मौजूद होते हैं सेहत के लिए जरूरी कई पोषक तत्व। विटामिन ए, बी1, बी2, बी6 के साथ इसमें फोलेट की भी मात्रा होती है। वहीं मैग्नीशियम, जिंक, आयरन, फॉस्फोरस और कैल्शियम जैसे मिनरल्स भी मौजूद होते हैं। इसकी फलियों से दाल, सांभर और सब्जी जैसी कई तरह की डिशेज बनाई जाती हैं। खानपान में इसे शामिल कर आप सेहत से जुड़ी कई सारी समस्याओं से बचे रह सकते हैं।

prime article banner

डॉ. दीक्षा भवसार सावलिया, जो एक आयुर्वेदिक डॉक्टर हैं। वो अकसर अपने सोशल मीडिया पर हेल्थ से जुड़ी जरूरी जानकारियां और टिप्स शेयर करती रहती हैं। हाल ही में उन्होंने सहजन सूप की रेसिपी और उसके फायदों के बारे में बताया है। जिसके बारे में आज हम जानेंगे।

सहजन सूप बनाने की रेसिपी

सामग्री– सहजन- 2, नमक- 1/2 टीस्पून, धनिया-जीरा पाउडर- 1/2 टीस्पून, हल्दी- 1/4 टीस्पून

विधि

– सहजन को अच्छे से धो लें। इसके छिलके को उतारकर 8-10 टुकड़ों में काट लें।

– इसके बाद कुकर में इसे दो ग्लास पानी और मसालों के साथ दो से तीन सीटी आने तक उबाल लें।

– इसके बाद इस पानी को छानकर पी लें।

View this post on Instagram

A post shared by Dr Dixa Bhavsar Savaliya (@drdixa_healingsouls)

कब पिएं?

इस सूप को खाली पेट पीना सबसे ज्यादा फायदेमंद होता है। वैसे आप खाने के आधे घंटे पहले या खाने के एक घंटे बाद भी पी सकते हैं। 

सहजन का सूप पीने के फायदे

  • इस सूप को पीने से जोड़ों के दर्द में आराम मिलता है।
  • थकान व कमजोरी दूर होती है।
  • थायरॉयड के मरीजों के लिए फायदेमंद है।
  • डायबिटीज में इसे पीने से ब्लड शुगर कंट्रोल में रहता है।
  • इम्युनिटी बढ़ती है, जिससे कई सारी बीमारियों का खतरा कम होता है।
  • वजन कम करने में भी सहजन का सूप बेहद असरदार है। 

जरूरी टिप्स

सहजन की तासीर गर्म होती है, तो गर्मियों में इसकी 50-100 मिली मात्रा से ज्यादा न पिएं। सर्दियों में थोड़ी ज्यादा मात्रा ले सकते हैं।

ये भी पढ़ेंः- क्या है थायरॉयड, इसके लक्षण और बचाव

Pic credit- freepik



[ad_2]

Leave a Comment